गज़ल/गीतिका · Reading time: 1 minute

ग़ज़ल :– आज़माइश नहीं करते !!

ग़ज़ल — आजमाईस नहीँ करते !!
अनुज तिवारी “इंदवार”

आशिको की कभी आजमाइस नहीं करते !
आशिकी में कोई फरमाइस नहीं करते !

इश्क कभी जज्ब-ए-जमाल नहीं होता !
इश्क में हुस्न की नुमाइस नहीं करते !!

तर्जुमान हुस्न के खामोश रहें या ना रहें !
इश्क में उम्मीद-ए-आराइस नही करते !!

2 Comments · 211 Views
Like
118 Posts · 58.7k Views
You may also like:
Loading...