मुक्तक · Reading time: 1 minute

“गरीबी”@मुक्तक***

“गरीबी” @मुक्तक
🙊🙊🙊🙊🙊

गरीबी , एक बड़ा अभिशाप है।
अमीर से मिला एक संताप है।
दीन पर रखिए, सदा दया-भाव;
गरीब की तौहीन, एक पाप है।

……..✍️पंकज “कर्ण”
…………..कटिहार।।

7 Likes · 4 Comments · 179 Views
Like
You may also like:
Loading...