मुक्तक

कश्मीर से कन्याकुमारी।
वीरों की यह धरा हमारी।
पावन है गणतंत्र देश का-
हमें जान से ज्यादा प्यारी।
-लक्ष्मी सिंह

Like Comment 0
Views 4

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing