.
Skip to content

गजानन मत-जाना

Rajesh Kumar Kaurav

Rajesh Kumar Kaurav

गीत

September 5, 2017

मत जाना भगवान गजानन मत जाना ।
राह राह झगड़े होते है,
चक्का जाम अांदोलन होते है,
जानता करें पुकार गजानन मत-जाना ।
रोड़ टूट रहे,रेल पलट रहीं,
लेट लतीफ सब गाड़ी चल रहीं,
यात्रा में रेहो परेशान गजानन मत-जाना ।
राम रहीम से जेल जा रहे,
गुंडे साधु सा रूप बना रहे,
भक्त हो रहे वदनाम गजानन मत-जाना ।
गौशाला में गायें मर रहीं,
चारा पानी बिन तडफ रहीं,
चूहें कि कौन विसाद गजानन मत-
जाना ।
मूसलधार कही पानी बरसें,
कहीं कही पानी को तरसें,
मौसम को बिगडो मिजाज गजानन मत जाना ।
स्वछता अभियान चलो है,
राजा मंत्री सभी लगो है,
धरती स्वर्ग समान गजानन मत-जाना ।

राजेश कौरव “सुमित्र
बारहाबड़ा

Author
Recommended Posts
मत जाना
सादर प्रेषित स्वरचित मिले हमदम हम मुश्किल से, कि मुख तुम मोड़ मत जाना। जिंदगी में तन्हा हमको सनम तुम छोड़ मत जाना। ख़ता और... Read more
तमाम उम्र बिता दी मगर नहीं जाना।
तमाम उम्र बिता दी मगर नहीं जाना। कि जिंदगी के सफर को सफर नहीं जाना। कठिन हो राह तेरी और दूर मंजिल हों, सफर में... Read more
वफ़ा करना, न कर पाओ तो' मत आना
छंद- सिंधु मापनी- 1222 1222 1222 चले जाना अभी आए अभी जाना. तुम्‍हे जी भर के’ भी देखा नहीं जाना*. जरा ढलने तो' दो दिन... Read more
बाधायें भी हार मान ले, आगे बढ़ते जाना है
मुश्किल कितनी भी आ जाये, तुमको ना घबराना है बाधायें भी हार मान ले, आगे बढ़ते जाना है मन हारा तो जग हारे तुम मन... Read more