कोरोना की दहसत

मिलाएं तो हाथों को कैसे मिलाएं
कोरोना की दहशत से कैसे बचाएं

सभी के दिलों में दहशत छिपी है
उनके दिल से डर ये हटाएं कैसे

कहां से ये आया है मेरे शहर में
है मुश्किल बड़ी इसको भगाएं कैसे

चली आ रही मौत रफ्तार से जो
कहर ढाने से पहले दफनाएं कैसे

दफा करके मानेंगे इसको यहां से
सभी साथ मिल कर भगाएंगे ऐसे
====================
“गौतम जैन “

8 Views
ग़ज़ल , कविता , हाइकु , लघुकथा आदि लेखन प्रकाशित रचनाएं:--- काव्य संरचना, विवान काव्य...
You may also like: