गीत · Reading time: 1 minute

खुश रखयो उस सजन नूं

करदां हाँ दुआ रब्ब तो खुश रखयो उस सजन नूं
जेहड़ा कर के तुर गया सी मेरे नाल बेवफाइयां

खुशियाँ नाल झोली भर गई जो सी ओसदे हिस्से
मेरे जीण लई बहुतेरे बस ओ जिन्दगी के किस्से
किस्सयां लई रह गइयां न जिन्दगी दिया रुसवाइयां
जेहड़ा……………………………………………

जित्थे डोली औंदी गई ए वजण ढोल ते शहनाइयां
मेरी जिन्दगी दे हिस्से आइयां तन्हाइयां ही तनहाइयाँ
ओ किसे होर दी अमानत औनूं लखों लख वधाइयाँ
जेहड़ा………………………………………………..

वेहड़े खुशियाँ ते बहारां जिदे जीण दा ओ सहारा
जाम साकी दे बन गए न मेरे जीण दा बस सहारा
नासूर बन गए नै जख्म दित्ते जेहड़े सलाइयाँ
जेहड़ा…………………………………………………..

सगना दी मेंहदी किते नै ओहदे हथ लालो लाल
हथ मेरे वी रंग गए नै ईश्के ए अग दे विच लाल
सुखविंद्र नहीं भूल सकदा तस्वीरां दिल विच बसाइयां
जेहड़ा……………………………………………………..

सुखविंद्र सिंह मनसीरत

44 Views
Like
You may also like:
Loading...