खामोश जब मैं हो जाऊंगा

खामोश जब मैं हो जाऊंगा।
न फिर तुमको नज़र आऊंगा।

अब तो कहते हो चले जाओ;
यादें मगर ऐसी मैं दे जाऊंगा।

बदल जाएगा वक्त और हालात;
हर जगह नज़र पर मैं आऊंगा।

कैसे कह दोगे नहीं रिशता बाकि;
दिल से जब निकल न कभी पाऊंगा।।।
कामनी गुप्ता ***
जम्मू !

Like Comment 0
Views 26

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share