कोरोना

विधा कुण्डलिनी छंद

कोरोना का वायरस,हुआ मनुज लाचार|
अपने आयुर्वेद में, है इसका उपचार|
है इसका उपचार, कभी धीरज मत खोना||
भागेगा यह रोग, नहीं होगा कोरोना|

कोरोना का वायरस,फैल रहा अविराम|
हाथ मिलाना छोड़िये, करिये आप प्रणाम|
करिये आप प्रणाम, हाथ अच्छे से धोना|
लेना आयुर्वेद ,दूर होगा कोरोना|

अपना आयुर्वेद है, जीवन का वरदान|
कोरोना का कीजिये, इससे आप निदान|
इससे आप निदान, करें पूरा यह सपना|
रखता आयुर्वेद,सुरक्षित शरीर अपना|
-लक्ष्मी सिंह
नई दिल्ली

Like Comment 0
Views 16

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share