गज़ल/गीतिका · Reading time: 1 minute

कोरोना के प्रति जागरुकता

कोरोना के प्रति जागरुकता

कुछ देश परेशान हैं, कुछ देश हलाकान
दुनिया को बचाना है, सावधान रहें।।

कोरोना Covid-19, मेड इन चाईना।
घोषित है महामारी, सावधान रहें।।

बचाव ही है बेहतर, बीमारी हो न ही पाए
कहीं हो न हो इलाज, सावधान रहें।।

दिखता कोई स्वस्थ, मगर हों छुपे लक्षण
कल हो सकता बीमार, सावधान रहें।।

आज की लापरवाही, कल जान पे बन आये
समय से हो सुरक्षा, सावधान रहें।।

अपनी अपनों की सबकी सलामती की खातिर
जिम्मेदारी निभाएँ, सावधान रहें ।।

अफवाहें बहुत फैलीं, कुछ किए भी मजाक
गम्भीर भी अब हो लें, सावधान रहें।।

स्कूल कालेज मेले, दफ्तर हुए कुछ बन्द
फैलायें न भीड़-भाड़, सावधान रहें।।

सरकार कर रही है, हम भी करें उपाय
पालन करें निर्देश, सावधान रहें।।

लगाये मास्क, यूज़ करें, सेनेटाईजर
स्वच्छता अपनाएं, सावधान रहें।।

दिल से रखें कितनी नजदीकियां ‘कौशल’
रख देह से कुछ दूरी, सावधान रहें।।

जिन्दगी रहेगी तो जी लेंगे फिर भरपूर
करना न कोई चूक, सावधान रहें।।

‘गर भगाना दूर कोरोना, कोविड नाइन्टीन
जागरुकता है जरूरी, सावधान रहें।।
🙏🙏
कौशलेंद्र सिंह लोधी ‘कौशल’
रा.नि.

1 Like · 42 Views
Like
You may also like:
Loading...