कोरोना इफ़ेक्ट(कुंडलियां)

1
कोरोना के हौसले, ऐसे हुये बुलंद
पूरे ही संसार को, किया घरों में बंद
किया घरों में बंद, लड़ाई है अब जारी
मानव ने भी जान, लगा दी अपनी सारी
कहे ‘अर्चना’ बात, पड़ा है हमको खोना
लेकिन होगी जीत, हराएंगे कोरोना
2
कोरोना ने रोक दी, जीवन की रफ्तार
और बढ़ा दीं दूरियाँ, किया हमें लाचार
किया हमें लाचार, पड़े रहते हैं घर पर
बच्चे बड़े बुजुर्ग, सभी रहते हैं डरकर
कहे ‘अर्चना’ बात, नहीं भाता अब सोना
आते हैं जब ख्वाब, डराता है कोरोना
3
रहता है अब रात दिन, हमें काम ही काम
कोरोना के वार ने,भुला दिया आराम
भुला दिया आराम,शौक ने पहले जकड़ा
खूब बने पकवान,हाथ गूगल का पकड़ा
मगर ‘अर्चना’ आज, नहीं मन इनमें लगता
रहते हैं बेचैन, थका सा ये तन रहता
4
आने वाली ज़िन्दगी, रही नहीं आसान
कोरोना की नोंक पर, होगी सबकी जान
होगी सबकी जान, बचानी अब तो भारी
करनी होगी खूब,सजग होकर तैयारी
कहे ‘अर्चना’ बात, अभी न अगर संभाली
हर लेगी हर चैन , मुसीबत आने वाली

18-04-2020
डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद

6 Likes · 2 Comments · 94 Views
डॉ अर्चना गुप्ता (Founder,Sahityapedia) "मेरी प्यारी लेखनी, मेरे दिल का साज इसकी मेरे बाद भी,...
You may also like: