कोई जन्म से कवि नहीं होता है

????
कोई जन्म से कवि नहीं होता है।
हर व्यक्ति में कहीं एक कवि छिपा होता है।
?
कोई घटना या दृश्य
मन की भावनाओं को छू जाता है।
वही कविता का बीज बो जाता है।
?
गहरी वेदना का अनुभव जब
संवेदनशीलता को स्वर दे जाता है।
फिर वही दर्द कोरे कागज पर
कविता बन उतर आता है।
???—लक्ष्मी सिंह ??

Like Comment 0
Views 151

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing