.
Skip to content

कुन्डलिया :– सरहद (नातों की )-2 ॥

Anuj Tiwari

Anuj Tiwari "इन्दवार"

कुण्डलिया

October 19, 2016

कुन्डलियां :– सरहद -2 !!

सरहद भावों से बनी ,
बड़ी विकट विकराल !

बंधन के ब्रम्हास्त्र हैं ,
जज्बाती हैं भाल !!

जज्बाती हैं भाल ,
जाल बुनती तरकीबें !

उलझन के जंजाल ,
खाल रिश्तों की खींचे !!

कहे “अनुज” अभिमान ,
लिये अपना ऊँचा कद !

मिले भाव प्रतिकूल ,
तभी बनती ये सरहद !!

अनुज तिवारी “इन्दवार”

Author
Anuj Tiwari
नाम - अनुज तिवारी "इन्दवार" पता - इंदवार , उमरिया : मध्य-प्रदेश लेखन--- ग़ज़ल , गीत ,नवगीत ,कविता , हाइकु ,कव्वाली , तेवारी आदि चेतना मध्य-प्रदेश द्वारा चेतना सम्मान (20 फरवरी 2016) शिक्षण -- मेकेनिकल इन्जीनियरिंग व्यवसाय -- नौकरी प्रकाशित... Read more
Recommended Posts
कुन्डलियां :-- सरहद (व्यंग) भाग -1 !!
कुन्डलियां :-- सरहद -1!! हद की सरहद लांघ कर , गदगद हुआ अधीर ! चार लाख जज्बात से , दुर्जन बना फ़कीर !! दुर्जन बना... Read more
सरहद
सरहद, जो खुदा ने बनाई|| मछली की सरहद पानी का किनारा शेर की सरहद उस जंगल का छोर पतंग जी सरहद, उसकी डोर || हर... Read more
सरहद के हालात
सरहद के हालात शूरवीर निर्भीक वीर और पराक्रमी योद्धा नौजवां सैनिक वो सुहाग,भाई और भारत मां के योग्य बेटे खोद देते हैं शत्रु की कबर... Read more
जो सरहद पे जाए ...
हवाओं में महके कहानी उसी की | जो सरहद पे जाए जवानी उसी की | सभी से जो बिछड़े सो घर बार छोड़ा, वतन की... Read more