· Reading time: 1 minute

कुण्डलिया

कुण्डलिया
————————–

कोरोना का कहर है , ऐसा ढाया चीन|
वह खल पूरे जगत की, नींद लिया है छीन|
नींद लिया है छीन , मरे हैं अगणित मानव|
चीन बना है आज ,जगत में भीषण दानव |
याद रखो संसार , पड़ा हम सबको रोना |
करना उसे न माफ , दिया है जो कोरोना ||

30 Views
Like
You may also like:
Loading...