.
Skip to content

कुछ शेर

shyam Vyas

shyam Vyas

शेर

March 13, 2017

दोस्त मिलते है दिल नहीं मिलते।
ज़िन्दगी में हम सफर नहीं मिलते।।
कहने को सारा जहाँ साथ होता है ।
वक्त आने पर अपने भी नहीं मिलते।।
कमबख्त इश्क भी ऐसी ना कमी है।
हर वक्त साहिल पे डुबो जाता है।।

Author
shyam Vyas
कविता,हिंदी शायरी ,में काफी कवी सम्मेलनों में कविता पाठ कर चूका हूँ काव्य में प्रेम का नया रूप दिया हे। शिक्षा M.Sc.
Recommended Posts
बदलता वक़्त
Abhinav Saxena शेर May 31, 2017
बदलते वक्त का शेर है कि, अच्छा या बुरा वक्त आता है बदल जाने के लिए इंसान को इंसानी फितरत याद दिलाने के लिये। वक़्त... Read more
वक़्त-वक़्त की बात.....
पहले जब कभी आते थे वह मेरे शहर तब मिलते थे मुझसे सबसे पहले पर अब आते हैं चुपके से शहर की महफ़िलों में और... Read more
यहां से तुम तो इलेक्शन भी जीत सकते हो
ज़मीनें मिलती हैं और आसमान मिलते हैं नसीब वालों को दोनो ..जहान मिलते हैं ............. हमें खबर है बा ज़ाहिर निकाह होता है मगर ये... Read more
एक  ही  सवाल  के  हज़ारों  जवाब  मिलते हैं
एक ही सवाल के हज़ारों जवाब मिलते हैं हज़ार जवाबों में लाखों सवाल मिलते हैं बहुत मुश्किल से मिलता है यहाँ दिल किसी से कहाँ... Read more