कुछ पल मुस्कुराये होते

तुम अगर मेरी जिंदगी में आये होते
तो हम भी कुछ पल मुस्कुराये होते !!

न रहते जिंदगी में तुम भी यूँ तन्हा
न अकेले में हमने आँसू बहाये होते !!

बेझिझक होती खट्टी मीठी तकरार भी
न गुफ्तगू के लिये बहाने बनाये होते !!

नाता अपना भी अधूरा था ख़ुदा के घर से
वरना बाहोँ के झूले हमने भी झुलायें होते !!

कोई तो रहा होगा नाता “धर्म” से जग में
यूँ ही तो न एक दूजे के दिल में समाये होते !!

!
!
डी के निवातिया _____________@

258 Views
Copy link to share
डी. के. निवातिया
234 Posts · 46.9k Views
Follow 9 Followers
नाम: डी. के. निवातिया पिता का नाम : श्री जयप्रकाश जन्म स्थान : मेरठ ,... View full profile
You may also like: