-: कुछ देर तो ठहरो :-

-: कुछ देर तो ठहरो :-
बड़ी जल्दी में रहते हो अक्सर तुम ,
कुछ देर बैठ भी जाया करो ,
हाँ मालूम है , बड़ी जिम्मेदारियां है तुम पर अपनो की ,
तो मेरे साथ मिलकर निभाओ ना , खुद को अकेले मत थकाओ ना ,
अरे कहां चल दिए , सुनो तो ठहरो तो सही ,
कुछ गुफ्तगू करनी है तुमसे ,
कुछ वादे निभाने है ,
अब तो अरसा भी बीत गया है ,
तुमसे तुम्हारा वक्त उधार पाने में ,
कितना भागती रहती हो ना तुम दिन भर ,
तुम्हे चैन भी नहीं है , हाँ मालूम है मुझे, पर जिम्मेदारियों का बोझ सिर्फ तुम पर ही नहीं है ।
सच कहूं तो मुझे तुम्हारा हर वक्त कुछ ना कुछ करते रहना बिलकुल भी अच्छा नहीं लगता ,
पता है नई नवेली दुल्हन हो तुम इस घर की ,
पर खुद को इतना मजबूर भी तो मत करो ना ,
सुनो तो सही कुछ देर ठहरो ना ,
थोड़ा पास बैठ कर बतियाओ ना ,
कुछ देर ठहर कर पहली मुलाकात वाला गीत एक बार वापस गुनगुनाओ ना,
कुछ देर ठहर जाओ ना,

2 Likes · 2 Views
लेखक हूं या नहीं, नहीं जानता , हा पर चले आते है कुछ शब्द लबो...
You may also like: