.
Skip to content

कुंडलिया – 3

Radhey shyam Pritam

Radhey shyam Pritam

कुण्डलिया

February 25, 2017

तब हृदय में लगी चोट,देखा चूरन नोट।
एटीएम की खूबी,या कर्मी का खोट।।
या कर्मी का खोट,हुई बंधु खटिया खडी।
बिन बुलाए ही ये,मुसीबत है आन पडी।
सुन प्रीतम की बात,तरीका निकालिए अब।
ऊर्जित जी निवेदन,मिटेगा ये संकट तब।
************
प्रीत हँसी अधर धरले,हृदय में मिलन रीत।
फूल-खुशबू से मिलिए,बनकर तुम मंजीत।।
बनकर तुम मंजीत,खुशियाँ बाँटते चलना।
काँटों बदले फूल,बनकर सदा तू खिलना।
सुन प्रीतम की बात,करनी-भरनी की रीत।
याद सदैव रखना,प्रीत बदले मिले प्रीत।
************
हरपल जीभर जी यार,जीवन की सौगात।
वक्त बीत गया गर तो,याद ही मुलाकात।।
याद ही मुलाकात,खुद को कोसते रहिए।
वो पल फिर न आए,दु:ख ही बाद में सहिए।
सुन प्रीतम की बात,मायूसी नहीं है हल।
कर्म नेक कीजिए,खुशी से जी फिर हरपल।
************
************
राधेयश्याम बंगालिया
“प्रीतम”
कृत ??

Author
Recommended Posts
3.सुन प्रीतम की बात....??
सुन प्रीतम की बात.. ***************************** 1..कुंडलिया धुन हृदय जगे गर तो,सफर आसान बने। हर कार्य रुचिकर लगता,रुचि से पहचान बने।। रुचि से पहचान बने,बिन थके... Read more
सुन प्रीतम की बात....याद रखें सभी
सुन प्रीतम की बात..कुंडलिया छंद ????????????? सभी के लिए ही गलत,धारणा लिए फिरें। काँटें हैं वो लोग रे,फूल कों चोट करें।। फूल को चोट करें,काहें... Read more
कुंडलिया-3...सुन प्रीतम की बात
सुन प्रीतम की बात..कुंडलिया छंद दोहा+रोला=कुंडलिया छंद.......... 1-कुडलिया मरना जीना सत्य है, क्यों रोते हो बंधु। फूल झर टहनी से,मिले मिट्टी खो गंधु।। मिले मिट्टी... Read more
कुंडलिया-3... सुन प्रीतम की बात(3...कुंडलिया....3)
सुन प्रीतम की बात...कुंडलिया... छंद ***************************** 1-कुंडलिया सोच समझ फैसला लो,पछतावा न होगा। व्यर्थ गवाया पल अगर,वो आया न होगा।। वो आया न होगा,कीजिए कितने... Read more