*किसी से कभी कोई वादा न कीजे*

किसी से कभी कोई वादा ना कीजे
वादा तो इक दिन निभाना पड़ेगा

कांटों से भरिये ना गैरों का दामन
खुद का भी पहलू बचाना पड़ेगा

सांसो ने सबको ही करजा दिया है
जीवन में इसको चुकाना पड़ेगा

भेजेगा जिसको वो जब भी बुलावा
छोड़ संसार ये उसको जाना पड़ेगा

किसी से कभी कोई वादा ना कीजे
वादा तो इक दिन निभाना पड़ेगा

*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

7 Views
*काव्य-माँ शारदेय का वरदान * Awards: विभिन्न मंचों द्वारा सम्मानित
You may also like: