Sep 1, 2016 · शेर
Reading time: 1 minute

काश

काश

काश तेरे दिल की बात इन हसीन लबों तक आ जाए l
जो छुपा है राज़-ऐ- दिल में तेरे हमारी भी नजर आये ll
कब से तलाश है नजरो को तेरे इकरार-ऐ-मुहब्बत की l
काश मेरी अरसे से मांगी दुआ कभी कबूल फरमाजाये ll

29 Views
Copy link to share
डी. के. निवातिया
235 Posts · 49.7k Views
Follow 12 Followers
नाम: डी. के. निवातिया पिता का नाम : श्री जयप्रकाश जन्म स्थान : मेरठ ,... View full profile
You may also like: