.
Skip to content

कालाधन (व्यंग)

पं.संजीव शुक्ल

पं.संजीव शुक्ल

लघु कथा

October 19, 2017

आज कई दिनों से कलुआ परेशान है, सभी कह रहे हैं जिन जिनके पास भी काला धन है उन्हें मोदी जी छोड़ेंगे नहीं।मैंने आज नहीं रहा गया पूछ ही लिया क्या बात है कल्लु क्यों परेशान है?
बोला क्या बतावे भईया, लोग कह रहे है मोदी मुझे छोड़ेंगे नही, जेल भेज देंगे।
मैने कहा तुम्हें क्यों भेजेंगे, तुम्हारे पास कौनसा काला धन हैवो तो काले धन वालों के पीछे पड़े है।
कलुआ धीरे से मेरे कान में बोला।
भईया मेरे पास भी एक ही काला धन है
वो भी बड़े हीं तपस्या के बाद मिली है ” हमरी मेहरीया ” ससुरी गजब की करीया है।
…पं.संजीव शुक्ल “सचिन”

Author
पं.संजीव शुक्ल
मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।
Recommended Posts
काला धन
विषय - काला धन काले मन से जो कमाया जाता है , काले कामों में जो लगाया जाता है । वह काला धन कहलाता है... Read more
लो काला धन बचाय
कहे कबीरा आज तक धन को रहत लुकाय पल भर मे घोषित करो सब कोई अपनी आय मोदी जी ने जो कही कर लो संतो... Read more
मोदी जी का ऐलान
जितनी भी तारीफ की जाए कम है , क्या योजना है देश समेत सारे विश्व को आश्चर्यचकित कर दिया । मोदी जी के इस ऐलान... Read more
'कैसी विडम्बना मेरे भारत की '
'कैसी विडम्बना मेरे भारत की ' कैसी विडम्बना मेरे भारत की ………… यहां कन्या लक्ष्मी का अवतार , फिर भी वो मरती है बे-हिसाब कराते... Read more