Jul 26, 2016 · कविता
Reading time: 1 minute

कारगिल विजय दिवस

कारगिल विजय दिवस पर…….

हवा का रुख किधर होगा सही पहचानते हैं हम
वही करके दिखा देते जो मन में ठानते हैं हम।
वतन का कर्ज़ है हम पर हमारे खूं का हर कतरा
इसे कैसे चुकाना है ब खूबी जानते हैं हम। –आर.सी.शर्मा “आरसी”

1315 Views
Copy link to share
Ramesh chandra Sharma
34 Posts · 3.2k Views
Follow 1 Follower
गीतकार गज़लकार अन्य विधा दोहे मुक्तक, चतुष्पदी ब्रजभाषा गज़ल आदि। कृतिकार 1.अहल्याकरण काव्य संग्रह 2.पानी... View full profile
You may also like: