23.7k Members 50k Posts
Coming Soon: साहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता

काबलियत

Nov 25, 2018

पहचान तुं खुद को, तेरी औकात है क्या,
दिखा तुं जमाने को तेरी काबिलयत है क्या,

जान ले तु कमी तुझमें है क्या,
दूर उसे करना है कैसे, इसका उपचार है क्या,

बिना काबलियत तेरी पहचान है क्या,
तेरी मेहनत ही तेरी पहचान बनेगी,
तेरी काबलियत से तुझे मंजिल मिलेगी
तेरे सामने रूकावटे को रोकने की औकात है क्या।

पहचान तुं खुद को, तेरी औकात है क्या,
दिखा तुं जमाने को तेरी काबिलयत है क्या,

हर कदम की राह तेरी मंजिल की ओर होगी,
तुंने जो ठांन ली, रोकने की किसी में हिम्मत है क्या।

रख खुद पर विश्वास, तेरा भी दिन आएगा,
तुं अपनी काबलियत के दम पर पहचाना जाएगा,

पहचान तुं खुद को, तेरी औकात है क्या,
दिखा तुं जमाने को तेरी काबिलयत है क्या,

4 Likes · 3 Comments · 12 Views
Guru Virk
Guru Virk
Haryana
17 Posts · 467 Views
You may also like: