काफिला आई जेहन में...

काफिला आया जेहन में…………
≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈≈

वाकयातों का नया एक
काफिला आया जेहन में ।
बाहयातों की कई चेहरे
निखर आया जहाँ में ।
वाकयातों का नया…………….

बेशरम दोपांच ही ने
आज हंगामा किया है ।
माँ भारती के लाल को
माँ ने पुनः आज्ञा किया है ।
मानसिक उन्माद कुछ
ज्यादा ही उठता है जहां में।
वाकयतों की नयी……………………..

जोश और सामर्थ्य की
अग्नि परीक्षा की अवस्था ।
अब हुई दरकार जीवन
में भी आये सुव्यवस्था ।।
बन के नव चैतन्य ध्रुव सा
कोई आये इम्तिहाँ में ।
वाकयातों की नयी………………..

फिर नए इतिहास की
संभावना लेकर हवा है ।
फिर नए संकल्प के
नवधर्म को लेकर दिशा है ।।
आखिरी स्थापना को
सत्य जलती आत्मा में ।
वाकयातों का नया…………….

सामरिक अरुण
wcm nds

Like Comment 0
Views 4

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share