कविता · Reading time: 1 minute

कश्मीर हैं हिन्दुस्तान का

कश्मीर हैं हिन्दुस्तान का
हैं प्रतीक आन बान शान का
जो देखे बुरी नजर से
उठाओ तलवार
भारत माँ के सपूतों
कर दो अलग सर को धड़ से !
भले कट जाए सर
मेरे देश के सपूतों
कह दो दुनिया वालों से
हम भी नहीं हैं कम
भारत माँ के चरणों में
जान दे देंगे हँस के !
अरे ! देश के दुश्मनों
जितने बहाए हैं लहूँ तूने
भारत माँ के बेटो पर
एक -एक का बदला लेंगे
आज हम इंसाफ करेंगे
देश द्रोहियों को माफ़ न करेंगे
कश्मीर हैं हिन्दुस्तान का
सीना तान के कहेंगे !
अरे ! सुन हिन्दुस्तान का संतान,
पाकिस्तान
इतना ना बन हैवान
कान खोल के सुन ले
कश्मीर हैं हिन्दुस्तान का !
जिस दिन जाग खडे होंगे
ज्वालामुखी बन जायेंगे
अरे न लो तुम
देश के दुश्मनो
सहनशक्ति की परीक्षा
हिन्दुस्तान का !
सोच उस दिन क्या होंगे
जब सारा हिन्दुस्तान
सरहद के पार खडे होंगे
जय हिंद की अनुगुंज सुनाई देंगे
हम वीर पुत्र भारत माँ के
हमारी जान से प्यारा
देश की मिट्टी
इसकी रक्षा हम जान दे कर करेंगे
भारत माँ की कसम
जय हिंद की गीत गायेंगे
कश्मीर की कोने कोने मे
तिरंगा फहरायेंगे !!

190 Views
Like
You may also like:
Loading...