मुक्तक

🌹 🌹 🌹 🌹

कवि की कविता में वो शक्ति जो दिल में देश प्रेम की लगन करें ।
वीरों के पथ पर गिर जाने की अभिलाषा हर एक चमन करें।
नसों में रक्तिम उबाल ला दे कवि की कलम में ऐसी धार है –
बच्चा-बच्चा बन जाये सैनिक गर बूरी नजर दुश्मन करें।
-लक्ष्मी सिंह

Like 1 Comment 0
Views 30

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing