शेर · Reading time: 1 minute

कविता या कहानी नहीं

कैसे कह दूं मैं कोई कहानी।
न मैं कोई कवि न मैं कोई ज्ञानी।।

चंद लफ्ज़ों में कैसे कह दोगे उसकी ज़िन्दगी कहीं।
इन्सान है वो कोई कविता या कहानी न नहीं।।

40 Views
Like
55 Posts · 9.1k Views
You may also like:
Loading...