कविता :मेरे दिल में तेरी याद है....???

मेरे दिल में तेरी याद है,तेरी आँखों में मेरा ख्वाब है।
मैं तेरे लिए लाजवाब हूँ,यूँ तू मेरे लिए लाजवाब है।।
मैं तुझको हसीन निशानी दूँ,तू मुझको भुला न देना कभी पर।
तेरे होठों का जो रंग है,वैसी मेरी चाहत भी गुलाब है।।

राधेयश्याम बंगालिया”प्रीतम”
????????

120 Views
प्रवक्ता हिंदी शिक्षा-एम.ए.हिंदी(कुरुक्षेत्रा विश्वविद्यालय),बी.लिब.(इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय) यूजीसी नेट,हरियाणा STET पुस्तकें- काव्य-संग्रह--"आइना","अहसास और ज़िंदगी"एकल...
You may also like: