*कलियुग*

गफलत में है सो रहा कलियुग का इंसान
पूजा पत्थर की करे मान इसे भगवान
*धर्मेन्द्रअरोड़ा*

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

तोल सदा ही बोलिये,मुख से मीठे बोल
हीरा जनम अमोल है,माटी में ना रोल
*धर्मेन्द्रअरोड़ा*

10 Views
*काव्य-माँ शारदेय का वरदान * Awards: विभिन्न मंचों द्वारा सम्मानित
You may also like: