.
Skip to content

“करवा-चौथ”

Shri Bhagwan Bawwa

Shri Bhagwan Bawwa

मुक्तक

October 19, 2016

हमारी जिंदगी में हर रोज करवा-चौथ आती है!
मै जब तक खा नहीं लेता,निवाला तू ना खाती है!
मेरे घर की तू रौनक है,मेरी माँ ने, था समझाया-
तुम्हारी शै से ही,दुनिया मेरी यूं खिलखिलाती है!
(जीवनसंगिनी बबिता को समर्पित)
आप सभी को करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं !

Author
Recommended Posts
चाँद करवा चौथ का तब खास हो गया
Kapil Kumar शेर Oct 19, 2016
चाँद करवा चौथ का तब खास हो गया चाँद देख उनका, जब आभास हो गया ***************************** कपिल कुमार 19/10/2016
करवा चौथ
करवा चौथ व्रत विशेष...... एक चांद, मेरे चांद से , आज क्यों नाराज है ? जरूर आज उसका, मेरे चांद से कम साज है। शरमा... Read more
करवा चौथ पर एक सुंदर कविता --मयंक
करवा चौथ पर एक सुंदर कविता --------मयंक --- तारों की छांव में , चौथ के चाँद को , अर्ध्य –दुग्ध की धार अर्पित कर ,... Read more
चाँद मेरा
चाँद जो हर पल दिल मेरे उगता है सबसे प्यारा मुझको है तम से घिरे दिल में जो मायूसी है जगमगाहट फैलाकर हर रोज सदाबहार... Read more