कमाल है कमाल है ।

संसद में बस शोरगुल है
न उठता सवाल है
कमाल है कमाल है ।
हर जगह दंगा है
हर तरफ बवाल है।
कमाल है कमाल है ।
केवल बयान बाजी
हर तरफ जालसाजी,
कोई टोके क्या मजाल है ।
कमाल है कमाल है ।
छोटी छोटी बातें हैं
राष्ट्र चर्चा का विषय
मुख्य विषय गायब है ।
हर तरफ दलाल है ।
कमाल है कमाल है ।
पशुओं से परेशानी,
मुश्किल भई किसानी
किसान बेहाल है ।
कमाल है कमाल है ।
#विन्ध्यप्रकाशमिश्रविप्र

Like 1 Comment 0
Views 6

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share