दोहे · Reading time: 1 minute

कब बदले तकदीर

इंसानों की क्या पता, कब बदले तकदीर !
कौन ऋतू निर्धन करे, कर दे कौन अमीर !!

एक अमावस छोडकर ,बाकी सब दिन काम !
चंदा की तकदीर मे,……लिखा नही आराम !!

चाहे धन्ना सेठ हो,…………चाहे रहे गरीब !
हुआ सभी को एक सा,यारों कफन नसीब !!
रमेश शर्मा.

1 Like · 85 Views
Like
510 Posts · 51.3k Views
You may also like:
Loading...