.
Skip to content

* औरत तेरी यही कहानी *

Neelam Ji

Neelam Ji

कविता

June 29, 2017

दिल में दर्द आँखों में पानी ,
औरत तेरी यही कहानी ।
हस्ती अपनी तूने मिटा दी ,
पर जग ने तेरी कदर न जानी ।।

तुम को हमेशा कमतर समझा ,
महत्व तेरा ना कोई समझा ।
तुम बिन अर्थहीन है दुनिया ,
पर तुमको ही अर्थहीन समझा ।।

तुम बिन अस्तित्व नहीं दुनिया का ,
सार तुम ही हो दुनिया का ।
तुम बिन दुनिया धूरी हीन है ,
तुम बिन होगा क्या दुनिया का ??

Author
Neelam Ji
मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी कब ये मैंने नहीं जाना ।। तब तक अपने ना सही ... । दुनिया के ही कुछ काम आना ।।
Recommended Posts
तुम बिन सूना है मधुवन
Rita Singh गीत Jun 6, 2017
तुम बिन सूना वृंदावन है तुम बिन सूना है मधुवन तुम बिन सूना बृजगाँव है तुम बिन सूना नंदन वन । तुम बिन सूने ताल... Read more
मेरी बेटी---मेरी य
------मेरी बेटी---मेरी दुनिया------ तुम कल भी मेरी दुनिया थी, तुम आज भी मेरी दुनिया हो। जब जन्मी तुम मेरे आँगन में, मेरा सूना जीवन चहक... Read more
मेरी बेटी---मेरीदुनिया
मेरी बेटी---मेरी दुनिया तुम कल भी मेरी दुनिया थी, तुम आज भी मेरी दुनिया हो। जब जन्मी तुम मेरे आँगन में, मेरा सूना जीवन चहक... Read more
प्रीत अधूरी तुम बिन,
प्रीत अधूरी तुम बिन, "तुम बिन अधूरा संसार मेरा , है हर बात अधूरी तुम बिन, "तुम बिन अधूरा हर संगीत मेरा ।" ~~~~~~~~~~~एस के... Read more