ऐ ! मेरे प्यारे देश के मतदाता --आर के रस्तोगी

ऐ ! मेरे प्यारे देश के मतदाता |
तुम हो भारत के भाग्य विधाता ||

करना तुम उस व्यक्ति को मतदान |
जो कर सके अपने देश का कल्याण ||

ये राष्ट पर्व पांच वर्ष के बाद आता |
जो अपने भारत का भाग्य विधाता ||

करना तुम इसका दिल से सम्मान |
करके अपने हाथो से अपना मतदान ||

आओ अब ऊँगली पर लगाओ स्याही |
उनको बोट न देना ,जो करते तवाही ||

आर के रस्तोगी
मो 9971006425

Like Comment 0
Views 3

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share
Sahityapedia Publishing