.
Skip to content

आयी लड़की ख्वाब में, लिख लिख करती प्रेम

रघु आर्यन

रघु आर्यन

कुण्डलिया

October 4, 2017

आयी लड़की ख्वाब में, लिख लिख करती प्रेम ।
प्रेम के पन्ने नभ में, सब पर खुद का नेम ।।
सब पर खुद का नेम, सोच है कितनी सुंदर,
तोड़ बेड़ियाँ सभी, हुई ख्वाबों के अंदर ।
कह आर्यन ख्वाब में, जग सब तृप्त हो जायी,
हों यदि सब ख्वाब में, जैसे ये चली आयी ।।

Author
रघु आर्यन
           ------लेखक परिचय----- नाम ------------  रघु आर्यन  जन्मतिथि ----- 15/02/1993 जन्मस्थान ----- ग्राम व पोस्ट नंदवल, जिला बहराइच,                        उत्तर प्रदेश  पता ------------- ग्राम व पोस्ट... Read more
Recommended Posts
ख़्वाब
मैंने देखा था इक ख़्वाब मगर आँख लगने लगी उसमें मेरी हर हक़ीक़त बनने लगा ख़्वाब जब लेने लगा मैं ख़्वाब ही ख़्वाब ।। तन्द्रा... Read more
अगरचे हक़बयानी लिख रहे हैं
आज़ 06/08/2017 की हासिल ग़ज़ल ******** मुहब्बत की कहानी लिख रहे हैं!! सनम की हम निशानी लिख रहे हैं!! ?????????? कहा है जिसको तुमने एक... Read more
*****प्रेम........
यह दिवस आज ही क्यूं रोज क्यूं नहीं किस बात पर ,खफा किस बात का गम हर पल , हर दिन प्रेम की आगोश सब... Read more
प्रेम
चेतना, निर्णय, अधिकार, एक एक कर सब समर्पित कर चली हो, स्त्री तुम प्रेम कर बैठी हो! सहगामिनी बनने चली थी, अनुगामिनी रह गई हो,... Read more