Aug 11, 2016 · कविता
Reading time: 1 minute

एक शांत मौन…..

आओ इस कोरे कागज पर
कुछ लिख देते है
ना मिटने वाला शब्द
जो दिल की गहराई में उतर जाये
शब्द तो शब्द है
शब्द के अर्थ भी होंगे
अर्थ के कई मायने होंगे,
कुछ दिल में उतरेंगे,कुछ दिल के पार होंगे
तीर के साथ,
शब्द तो लिखे भी जाते है
और बोले भी
कुछ शब्द होते है गहरे मौन
जिसे लिखा भी नही जाता
न ही बोला समझा पढ़ा जा सकता है,
केवल अनुभव कर सकता है….
दिल की गहराइयो में छिपा मौन
शांत सा मौन……
कागज कोरा ही रह गया
जान लिया था दिल की गहराइयो में छिपा शांत सा मौन,जो केवल मौन ही समझता था
केवल मौन ही जो था शब्दों से परे।।

^^^^^^दिनेश शर्मा^^^^^^

35 Views
Dinesh Sharma
Dinesh Sharma
44 Posts · 3.9k Views
Follow 2 Followers
सब रस लेखनी*** जब मन चाहा कुछ लिख देते है, रह जाती है कमियाँ नजरअंदाज... View full profile
You may also like: