23.7k Members 49.9k Posts

*** एक आव्हान : प्रकृति की ....! **

* एक पेड़ लगा कर तो देख ,
” ओ एक से अनेक हो जायेगा ,
बारिश बहुत होजायेगा ।
चट्टानों में हरियाली नज़र आयेगा ,
बंजर में भी फसल लहलहायेगा ।
सुखा तरिया-तालाब भर जायेगा ,
नदी-नालों में भी सदा जल -धारा पायेगा ।
नेक-अनेक खुशियां जीवन में आ जायेगा।।”
** एक पेड़ लगा कर तो देख ,
” ओ एक से अनेक हो जायेगा ,
पर्यावरण सुंदर-स्वच्छ हो जायेगा।
धरती में भी तपन कम हो जायेगा ,
वैश्विक-उष्णता से निजात मिल जायेगा।
सागरीय तल अपनी सीमा में रह जायेगा ,
प्रकृति भी अनुकूलित हो जायेगा । “
*** पेड़ एक लगा कर तो देख ,
” ओ एक से अनेक हो जायेगा ,
हरियाली से धरती स्वर्ग बन जायेगा ।
पशु को आवास , पंछी को घोंसला ,
और पंथी को छाया भी मिल जायेगा ;
कलरव करती पंछी प्यारी ,
ऊषाकाल सबको जगा जायेगा।
और आलस्यता भी दूर भग जायेगा।।”
**** पेड़ एक लगा कर तो देख ,
” ओ एक से अनेक हो जायेगा ,
मलयगिर शीतल पवन बहायेगा।
मुक्त में आक्सीजन भी दे जायेगा,
अपने ” लाल ” को चंदन-तिलक
लगायेगा ।
हर जगह संजीवनी -बूटी मिल जायेगा ,
मूर्च्छित लक्ष्मण जैसा भाई जीवित हो
जायेगा । अतुल्य चिकित्सा का वरदान ” आयुर्वेद ” भी संपन्न हो
जायेगा।।”
***** ओ पेड़ एक नहीं लगायेगा तो,
” एक से अनेक पेड़ कट जायेगा ,
प्रकृति में असंतुलन आ जायेगा।
बिन पानी तरह जायेगा ,
ऊसर (उपजाऊ) भूमि बंजर हो
जायेगा ।
हर ओ गांव-शहर , अस्थी-पंजर से शमशान
ही शमशान नजर आयेगा ,
चंदन नहीं बबुल लकड़ी भी नहीं मिल
पायेगा।
धरातल में तपन बढ़ जायेगा।।”
फिर ,
” कोई विकल्प ‘ जीवन का ‘ नहीं मिल पायेगा ,
” मनु ” का ( प्रथम मानव) अंश मिट जायेगा।
प्रकृति में कभी संतुलन नहीं आयेगा।।
प्रकृति में कभी संतुलन नहीं आयेगा ।।।।
————****————–

बी पी पटेल
बिलासपुर ( छ . ग . )

Like 1 Comment 2
Views 40

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
VEDANTA PATEL
VEDANTA PATEL
BILASPUR
39 Posts · 1.3k Views
Actually VEDANTA PATEL is my son. Myself B P PATEL , I am not an...