Skip to content

उम्मीद: सात हाइकु

दिनेश एल०

दिनेश एल० "जैहिंद"

हाइकु

November 13, 2017

उम्मीद: सात हाइकु
// दिनेश एल० “जैहिंद”

आशा आशय
मनसा प्राकृतिक
जग ऐच्छिक ।
××××××××

कर्म है आज
कामना है कल
कोख भविष्य ।
×××××××××

उम्मीद साथी
जीवन-रथ सार्थी
छोड़ न डोर ।
××××××××××

ज्यों मरी आशा
छायी घोर निराशा
डूबा सूरज ।
××××××××××

जहाँ हो चाह
वहीं बनी है राह
मकड़ी-सीख ।
×××××××××

वहीं है जीत
उम्मीद पे उम्मीद
दिवाली-ईद ।
××××××××××

अनिच्छा गौण
इच्छा है महत्तम
जग कायम ।

===============
दिनेश एल० “जैहिंद”
19. 08. 2017

Author
दिनेश एल०
मैं (दिनेश एल० "जैहिंद") ग्राम- जैथर, डाक - मशरक, जिला- छपरा (बिहार) का निवासी हूँ | मेरी शिक्षा-दीक्षा पश्चिम बंगाल में हुई है | विद्यार्थी-जीवन से ही साहित्य में रूचि होने के कारण आगे चलकर साहित्य-लेखन काे अपने जीवन का... Read more
Recommended Posts
**उम्मीद की किरण **
उम्मीद ,?ही तो है, जो मैदान छोड़कर जाते हुए को कहती है चल एक कोशिश? ओर करके देखते हैं, क्या पता? इस उम्मीद के साथ... Read more
जुल्म की इन्तहा
“ जुल्म की इन्तहा ” करके “ जहाँ ” में वो वफ़ा की उम्मीद करते , खुशियाँ छीनकर “जग के मालिक” से खुशियों की उम्मीद... Read more
हाइकु सप्तक की समीक्षा
हाइकु सप्तक : संपादक - प्रदीप कुमार दाश "दीपक" [ हिन्दी के सर्वश्रेष्ठ सात हाइकुकारों का परिचय, हाइकु एवं उनके हाइकु संबंधी विचार ] प्रकाशक... Read more
झाँकता चाँद की समीक्षा
झांकता चाँद : (साझा हाइकु संग्रह) प्रकाशन वर्ष - जनवरी 2017 संपादक :प्रदीप कुमार दाश "दीपक" झाँकता चाँद-एक प्रतिबिम्ब सुनहरे कल का समीक्षक : सुशील... Read more