उफ़

आंख मिलती है मगर शर्म से झुक जाती है ।
वो मुझे जब भी देखती है मुस्कुराती है।

पास रहने पर भले कुछ न लगे ।
जब कभी दूर हो तो याद बहुत आती है ।

Like Comment 0
Views 4

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share