.
Skip to content

उनके सवालों पर मेरा जवाब चल रहा है दोस्तों। सवाल जवाब का यहाँ सैलाब चल रहा है दोस्तों।

पूनम झा

पूनम झा

गज़ल/गीतिका

November 20, 2016

उनके सवालों पर मेरा जवाब चल रहा है दोस्तों।
सवाल जवाब का यहाँ सैलाब चल रहा है दोस्तों।
*
महफ़िल में जुट रहे बंदे पहचाने हो या अनजाने
मुस्कुरा कर हर शख्स से आदाब चल रहा है दोस्तों।
*
बर्षों बाद मिले कई दोस्तों से यूं गले मिलना फिर
कहना कहिये कैसे हैं जनाब चल रहा है दोस्तों।
*
हँसी ठहाकों से गूंज रही ये कवियों की महफ़िल
आवाजों में वाह वाह बेहिसाब चल रहा है दोस्तों।
*
रूह मुस्कुराती हुई जैसे गमों को अंगूठा दिखाती
कहती मुस्कुराहटों का रूआब चल रहा है दोस्तों।
*
यहाँ तो कविता,गजल,शेरों शायरी ही चल रहा है
” पूनम ” नहीं किसी का हिसाब चल रहा है दोस्तों।
#पूनम_झा।कोटा, राजस्थान। 20-11-16
#######################

Author
पूनम झा
मैं पूनम झा कोटा,राजस्थान (जन्मस्थान: मधुबनी,बिहार) से । सामने दिखती हुई सच्चाई के प्रति मेरे मन में जो भाव आते हैं उसे शब्दों में पिरोती हूँ और यही शब्दों की माला रचना के कई रूपों में उभर कर आती है।... Read more
Recommended Posts
कही सचका फसाना.....
कही सचका फसाना चल रहा है, कहीं झूठा जमाना चल रहा है, मै शायर हूँ मेरा इक शायिरा से, कहीं टाँका भिडा़ना चल रहा, वो... Read more
मेरे दोस्तों
कविता मेरे दोस्तों - बीजेन्द्र जैमिनी एक-एक पौधा लगाओ मेरे दोस्तों पौधे को पड़े बनाओ मेरे दोस्तों जीवन होता है अनमोल - ऐसा संकल्प बनाओ... Read more
किस राह पर जाएं
अब कहां जाएँ, किस राह पर चल के दिखाएं, लगता आसां है, पर मुश्किल सवाल है। जिस राह पर चलने का ख्वाब था आज उसी... Read more
मरहम के नाम पर जख्म देकर कहाँ चल दिये
इश्क़ फरमाकर ज़नाब कहाँ चल दिए मरहम के नाम पर ज़ख्म देकर कहाँ चल दिए रोशन गलियों से निकाल कर अँधेरे में छोड़कर कहाँ चल... Read more