23.7k Members 50k Posts

उनकी जिद

समझ आया ही नहीं कभी हमे उनका शौके मिजाज,
और वो बने रहे बस खुद में ही नबाब,
कई बार कोशिस की हमने उन्हें जानने की,
मगर वो जिद लिए बैठे थे कभी न मानने की,
क्या ऐसे ही दूर तक रिश्ते चल पाते हैं,
जिसमे हम एक दूसरे को नीच दिखाते हैं,RASHMI SHUKLA

7 Views
RASHMI SHUKLA
RASHMI SHUKLA
46 Posts · 1k Views
mera majhab ek hai insan hu mai
You may also like: