.
Skip to content

ईद का चाँद …….

डी. के. निवातिया

डी. के. निवातिया

शेर

June 28, 2016

ईद का चाँद …….

चाँद दिखे न दिखे इस बार तुम जरूर आ जाना,
क्योकि तुम ही हो मेरे ईद का चाँद …………………..!
!
तुम आ गये तो चाँद ने खुद-ब-खुद निकल आना,
बिन तुम्हारे क्या ईद और क्या चाँद ……. …………..!!
!
!
!
!
डी. के. निवातियाँ _____+++

Author
डी. के. निवातिया
नाम: डी. के. निवातिया पिता का नाम : श्री जयप्रकाश जन्म स्थान : मेरठ , उत्तर प्रदेश (भारत) शिक्षा: एम. ए., बी.एड. रूचि :- लेखन एव पाठन कार्य समस्त कवियों, लेखको एवं पाठको के द्वारा प्राप्त टिप्पणी एव सुझावों का... Read more
Recommended Posts
ऐ चाँद आज तू जल्दी आ/मंदीप
ऐ चाँद आज तू जल्दी आ, बूखा है मेरा चाँद तू जल्दी आ। खड़ा मेरा चाँद छत पर, तू जल्दी से छत पर आ ।... Read more
चाँद
???? ईद और करवाचौथ पर रहता है चाँद का जलवा। बाकियों दिन वह घटता - बढ़ाता रहे, किसे है परवाह। ? जिसे निहारने के लिए... Read more
चलो मनाएँ ईद हम
चलो मनाएँ ईद हम,सबको लेकर साथ! भुला पुरानी दुश्मनी, ले हाथों मे हाथ! ! सीमा खुशियों की सभी,गई तुरत वो फाँद! आया जैसे ही नजर,.....उसे... Read more
देख चाँद गगन का
देख चॉद गगन से मुझे यूँ कहने लगा इशारे इशारों में ही मुझे बुलाने लगा आ जाओ अब छोड़ कर धरती तुम कह कर चाँद... Read more