इश्क़

ना इश्क़ हार मानता

और ना ही दिल बात मानता

क्यों नहीं तुम ही मान जाते….

Like 5 Comment 1
Views 14

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share