.
Skip to content

इश्क

Akib Javed

Akib Javed

शेर

November 9, 2017

#इश्क

दिल के बेनाम रिश्ते
कभी किसी नाम की चाहत नही रखते…

उन्वाने जँहा में कुछ और नही
जो सोचो वो कभी मिला नही

दिल की नादानियों को भुला नही सकते
दिल में बसने वालो को मिटा नही सकते

®आकिब जावेद

Author
Akib Javed
कुछ लिखना चाहता हूँ,सोचता हूँ,शब्दो से खेलता हूँ,सीखता हूँ,लिखता हूँ।।
Recommended Posts
हसरते दिल की(गज़ल)
हसरते दिल की/मंदीप हर किसी की मुस्कुराहट सच्ची होती नही, बिना दर्द के कभी आँखे रोति नही। अगर दिल ना धड़के किसी के लिए, वो... Read more
मिलेंगे या नही
Sonu Jain कविता Oct 27, 2017
?मिलेंगे या नही? अरमानो से पूछो कभी पूरे होंगे कि नही,, दिल जिसे चाहता है उससे कभी मिलेंगे की नही,, जाते हुए आंधी तूफान से... Read more
कुछ कह ले  दिल
कुछ कह ले दिल .... सागर से गहरे दिल ,फिर भी न बहले दिल कभी तो दिल से दिल की बात कहले दिल।। समुन्दर सा... Read more
"हंसना नही आता, हमे रोना नही आता रहूं पास जो तेरे,तो खफा होना नही आता, लिखे थे यहां मुकद्दर मे कुछ साज जो मेरे आज... Read more