.
Skip to content

इश्क किया है तो

त्रिदेव दुग्गल

त्रिदेव दुग्गल "अन्नू "

गज़ल/गीतिका

November 10, 2017

अपने मुंह मे राम बगल मे तलवार मत रखिए..
कभी मानवीय रिश्तों मे इतना खार मत रखिए..

इश्क किया है तो सर काटकर हथेली पे रख,
सिर्फ दिखावे वाली मोहब्बत-औ-प्यार मत रखिए..

आपकी बहन बीवी को ही हवसी नजर से देखे,
अपने यारों की फेहरिस्त में ऐसा यार मत रखिए..

किसी भी बुलन्दी को छूना है तो इतना ध्यान रहे,
रख बुलन्द हौंसला,दिल में कभी भी हार मत रखिए..

हो सकता है आपको ही जलाकर राख कर दे,
अपने पड़ोसी के लिए दिल में अंगार मत रखिए..

एक ही मिट्टी से तो बनते हैं मस्जिद और मन्दिर,
बेवजह हिन्दू मुस्लिम के नाम पे दरार मत रखिए

अ ‘देव’ आने वाली पीढ़ी तेरी मिसाल देंगी,
बशर्तें..तू अपने गिरेबां को दागदार मत रखिए
_
त्रिदेव दुग्गल “अन्नू”

Author
त्रिदेव दुग्गल
युवा कवि, गज़लकार एवं गीतकार गाँव व डाक- मुंंढाल खुर्द (भिवानी) सम्पर्क सूत्र-9992056777
Recommended Posts
*** मत, भेद रखिए ***
मतभेद रखिए मन भेद ना रखिए ज़िगर में जुदा हर शख्स है फिर भी रखिए ज़िगर में नज़र प्यार की रखिए जाइये ना फ़िगर पे... Read more
हास्य -कविता (सफलता का मन्त्र )
सफलता का मन्त्र ----------------------- हमेशा बौस के आस-पास ही मंडराते रहिए , रटन्त तोते की तरह बौस के गुण गाते रहिए । हर काम को... Read more
कमाओ ढेर सारा धन मगर इतनी खबर रखना
किसी के इश्क मेँ तुम जिंदगी अपनी कभी बर्बाद मत करना कि अपने स्वर्ग से घर को कभी वीरान मत करना कमाओ ढेर सारा धन... Read more
*प्रेम रतन*
जग में कायम शान रखिए खुद से भी पहचान रखिए प्रेम रतन को बाँट - बाँट सबसे दुआ सलाम रखिए *धर्मेन्द्र अरोड़ा*