23.7k Members 49.9k Posts

इरादा कर लिया क्या

इश्क़ करने का इरादा कर लिया क्या
बर्बाद होने का इरादा कर लिया क्या

कश्ती अपनी तूफानों में ले चले
डूबने का इरादा कर लिया क्या

मरहम नही है इस दर्द का दुनिया में
ख़लिश में जीने का इरादा कर लिया क्या

आग है उनके इश्क़ ऐ दुनिया में
जलने का इरादा कर लिया क्या

अज़ीब जज़्ब (आकर्षण) है गेसुओं में
गुसार(दूर होना)होने का इरादा कर लिया क्या

तिश्रगी(प्यास)है प्यार में उनके
प्यासे रहने का इरादा कर लिया क्या

भूपेंद्र रावत
20।08।2017

Like 1 Comment 0
Views 65

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
Bhupendra Rawat
Bhupendra Rawat
उत्तराखंड अल्मोड़ा
312 Posts · 12.3k Views
M.a, B.ed शौकीन- लिखना, पढ़ना हर्फ़ों से खेलने की आदत हो गयी है पन्नो को...