Skip to content

“इन्कलाब लिखता हूँ “

सन्दीप कुमार 'भारतीय'

सन्दीप कुमार 'भारतीय'

गज़ल/गीतिका

August 27, 2016

ग़ज़ल लिखने की एक छोटी सी कोशिश

“इन्कलाब लिखता हूँ ”

ग़मज़दा होता हूँ जब कभी
अपने जज़्बात लिखता हूँ मैं

अन्दर से टूटने लगता हूँ जब भी
अपने अधूरे ख्वाब लिखता हूँ मैं

सोचता हूँ बैठकर हासिल क्या है
मेरी की हुई कोशिशें लिखता हूँ मैं

डूबता हूँ तनहाइयों में ग़र कभी
सोचों का समंदर लिखता हूँ मैं

खुश हो जाता हूँ थोड़ी सी ख़ुशी में
बस अपनी मुस्कान लिखता हूँ मैं

पूछते हैं सब ये क्या लिखते हो ‘कुमार’
मैं बोला कलम से इन्कलाब लिखता हूँ मैं

“सन्दीप कुमार”

Author
सन्दीप कुमार 'भारतीय'
3 साझा पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं | दो हाइकू पुस्तक है "साझा नभ का कोना" तथा "साझा संग्रह - शत हाइकुकार - साल शताब्दी" तीसरी पुस्तक तांका सदोका आधारित है "कलरव" | समय समय पर पत्रिकाओं में रचनायें प्रकाशित होती... Read more