इंतज़ार

जीने की ख्वाइश में हर रोज़ मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं,
जूठा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मानकर ऐतबार करते हैं।

Like 3 Comment 0
Views 11

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share