शेर · Reading time: 1 minute

इंतजार

मेरी आवारगी के हमसाये
वीरानों में मुझे छोड़ गये ।
कोई उसको बता दे
किसी को इंतजार है ।
आवारा बादल है न जाने कहाँ बरसेगा ।
कोई हवा उसे प्यासी जमीन पर ला बरसाये ।

30 Views
Like
50 Posts · 3.4k Views
You may also like:
Loading...