आसान कविताएँ

किसने कह दिया की कविताओं को आसान भाषा में नहीं लिखा जाता ।
आसान भाषा में भी कविताएँ लिखी जा सकती है।
प्रस्तुत है एक उदाहरण तीन चार बाल कविताओं से प्रेरित :-
पहली बाल कविता :-मोटू सेठ
नेता सेठ।
सड़क पर कर वेट।।
चुनाव आई शुरु हो गई रिक्वेस्ट।
पार्टी थी एकदम वेस्ट।।
अब दूसरा ले लीजिए:-विनती सुन ले है भगवान:-
विनती सुन ले है इन्सान ।
अबकी वोट मेरी जान।।
सुबह सवेरे प्रचार कराते।
रोज नया-नया मुद्दा बनाते।।
अब ये तिसरा ही ले लीजिए-रैन -रैन गो अवे:-
मैन मैन स्टे अवे।
कम अगेन अनअदर दे।।
नेताजी इज अोन द वे।
ये एक और लीजिए:-ट्विंकल ट्विंकल लिटल स्टार:-
ट्विंकल ट्विंकल लिटल स्टार।
कबले होई खत्म भ्रष्टाचार।।
अप एबाॅव द वलर्ड सो आए।
केई हमर भैसिया के चारा खाई।।

क्या आप अपनी पुस्तक प्रकाशित करवाना चाहते हैं?

साहित्यपीडिया पब्लिशिंग द्वारा अपनी पुस्तक प्रकाशित करवायें सिर्फ ₹ 11,800/- रुपये में, जिसमें शामिल है-

  • 50 लेखक प्रतियाँ
  • बेहतरीन कवर डिज़ाइन
  • उच्च गुणवत्ता की प्रिंटिंग
  • Amazon, Flipkart पर पुस्तक की पूरे भारत में असीमित उपलब्धता
  • कम मूल्य पर लेखक प्रतियाँ मंगवाने की lifetime सुविधा
  • रॉयल्टी का मासिक भुगतान

अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें- https://publish.sahityapedia.com/pricing

या हमें इस नंबर पर काल या Whatsapp करें- 9618066119

Like Comment 0
Views 5

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share