Jul 3, 2016 · शेर
Reading time: 1 minute

आसमां शरारत पे उतरा , जमीं को गिला कर दिया

आषाढ़ की धूप को ढककर बादल ने नशीला कर दिया
आसमां शरारत पे उतरा , जमीं को गिला कर दिया

26 Views
Copy link to share
Yashvardhan Goel
30 Posts · 846 Views
You may also like: