आसमां शरारत पे उतरा , जमीं को गिला कर दिया

आषाढ़ की धूप को ढककर बादल ने नशीला कर दिया
आसमां शरारत पे उतरा , जमीं को गिला कर दिया

Like Comment 0
Views 11

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share